Indore Railway Station: फतेहाबाद-उज्जैन के बीच लाइन बिछ गई चल नहीं पाई यात्री ट्रेन

0
5


Updated: | Tue, 04 May 2021 05:02 PM (IST)

Indore Railway Station: इंदौर। जेड ए टीवी प्रतिनिधि। फतेहाबाद-उज्जैन के बीच छोटी लाइन हटाकर बिछाई गई बड़ी लाइन पर यात्री ट्रेन शुरू होने के अब तक कोई ठिकाने नहीं हैं। 23 किलोमीटर लंबी इस लाइन का निरीक्षण कमिश्नर रेलवे सेफ्टी (सीआरएस) लगभग तीन महीने पहले किया था। तब रतलाम रेल मंडल के अफसरों ने कहा था कि सीआरएस द्वारा बताए गए काम 15-20 दिन में पूरे कर उक्त रेल मार्ग को यात्री ट्रेनों के लिए खोल दिया जाएगा।

रेलवे को इस रूट पर कोई नई ट्रेन नहीं चलाना है, बल्कि फिलहाल देवास होकर उज्जैन आने-जाने वाली महू- प्रयागराज ट्रेन का रूट बदलना है। इसमें ज्यादा समस्या नहीं है, लेकिन फिर भी अब तक इस ट्रेन को बदले रूट से चलाने की कोई तैयारी नहीं है। फतेहाबाद-उज्जैन रेल लाइन से ट्रेन गुजरेंगी तो यात्रियों का समय और किराया, दोनों बचेगा। अभी इंदौर से देवास होकर उज्जैन आने-जाने के लिए ट्रेनों को 79 किमी की दूरी तय करनी पड़ती है, जबकि इंदौर से फतेहाबाद होकर उज्जैन तक की दूरी 63 किमी है। इस तरह यह नया रेल मार्ग 16 किमी की दूरी घटाने वाला है। उक्त रेल मार्ग अब उपयोग के लिए तैयार है।

उद्घाटन के कारण अटकी शुरुआत

सूत्रों ने बताया कि उज्जैन के कुछ नेता मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के हाथों फतेहाबाद-उज्जैन रेल लाइन का उद्घाटन कराना चाहते हैं, यही वजह है कि औपचारिक रूप से रेल लाइन पर यात्री ट्रेन शुरू नहीं की जा सकी हैं। बाद में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलने और बाद में लगे लाकडाउन के कारण यह कार्यक्रम अटक गया।

सूत्रों ने बताया कि उज्जैन के कुछ नेता मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के हाथों फतेहाबाद-उज्जैन रेल लाइन का उद्घाटन कराना चाहते हैं, यही वजह है कि औपचारिक रूप से रेल लाइन पर यात्री ट्रेन शुरू नहीं की जा सकी हैं। इसके अ्लावा विक्रम नगर और चिंतामण गणपति रेलवे स्टेशन के उद्घाटन की भी तैयारी है। कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलने और बाद में लगे लाकडाउन के कारण ये कार्यक्रम अटक गए। अब लाकडाउन खत्म होने और स्थितियां सामान्य होने पर ही कार्यक्रम हो सकेगा।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

 

Show More Tags



Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें